2 October Gandhi Jayanti | in Hindi

2nd october gandhi jayanti

 

2 October Gandhi  Jayanti ।। 2 October महात्मा गांधी जयंती कब और क्यों बनाई जाती है:-

जैसे कि आप सब को पता होगा कि आज 2 October है और गांधी जी का जन्म हुआ था।

और आप सब को पता होगा कि आज हम आजाद भारत में सांस लेते है. और आप को  पाता है. हमारा देश 1947 को आजाद हुए । जिससे हमें अंग्रेजो से आजादी मिली इस आजादी  पाने  में हजारों  विरों ने अपनी जान गवाई।  इस  को दिलाने में बहुत वीरों  योगदान रहा है. जिसमें से एक ही महात्मा गांधी जी भी थे. जिन्हे आज हम बापू जी भी कहते है.

 

इस आजादी को कुछ लोग अपनी ताकत से हासिल करना चाहते थे। और कुछ लोग सत्य और अहिंस के मार्ग पर चल कर पाना चाहते थे । जिनमें से एक महात्मा गांधी जी थे.

2 October Gandhi Jayanti:-

2 October Gandhi Jayanti इस लिए बनाई जाती है । इस दिन महात्मा गांधी जी का जन्म हुआ था. जिससे उन्हें याद किया जाता है

गांधी जी एक महान पुरूष है. जिसने देश हित के लिए अंतिम सांस तक लड़े । उनकी वजह से देश को आजादी मिली पर इस आजादी में देश के बहुत से और वीरों का योगदान रहा है। जैसे कि भगत सिंह और बहुत है ।

गांधी जी का जन्म कहा हुआ :- हिंदी

तो इसकी शुरूआत होती है। सन 1886 से गांधी जी का जन्म हुआ था इनका जन्म गुजरात के एक छोटे से शहर पोरबन्दर में हुआ था इनका पूरा नाम मोहन दस कर्मचंद गांधी था इनके पिता का नाम करमचंद गांधी था। इनकी माता का नाम पुतली बाई था. गांधी जी का जन्म होने के बात गांधी जी का पूरा परिवार राजकोट रहने लगा था। और गांधी जी की शुरुआत की पढ़ाई यही से हुई । यह 9 साल के स्कूल जाने लगे थे । गांधी जी छोटे पन से सरमिले थे इनकी शादी 13 वर्ष की आयु में हो गई थी । इनकी पत्नी का नाम कस्तुरबा गांधी था जो सांत सुवाभ्व की थी । जब गांधी जी 15 साल के हुआ थे तो इनके सर से पिता का साया उठ गया था. इनके पिता की मौत हो गई ।

2nd october gandhi jayanti || in hindi 2020

इन कठिन परिस्थितियों में गांधी जी | को अपने आप को संभालना मुश्किल हो गया था| गांधी जी ने अपने आप को संभाला | और इन्होंने 1887 में हाईस्कूल की पढ़ाई पूरी करी । और फिर कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद 1888 में गांधी जी लंदन चले गए | और गांधी जी ने यहां से (Low) वकील पढ़ाई पूरी करने के बाद भारत वापस आ गए।और फिर इन्हे भारत में दादा अब्दुल्ला नाम कि एक कंपनी में नोकरी मिली।इस नोकरी को पाने के लिए इन्हे साउथ अफ्रीका जाना पड़ा. साउथ अफ्रीका में भेद भाव बहुत था गांधी जी को साउथ अफ्रीका में 1 साल के लिए अफ्रीका भेजा गया था।

  • पर बहा पर राह रहे भारत और बहा के लोगो के लिए गांधी जी 20 साल तक वही पर रहे।

और उन लोगो और अपने हक के लिए लड़ते रहे । और फिर इन्होने National Congress स्थापना की।

Gandhi Ji Bhart Come Back। गांधी जी भारत वापस कब आए:-

  1. और गांधी जी ने अफ्रीका में सबिली राइड एक्ट के रूप में अनी पहचान बनाई और फिर गोपाल कृष्ण गोखले जो भारत के Congars Leader थे उन्होंने गांधी जी से भारत आने की बात की और लोगो को आजादी दिलाने की बात की और गांधी जी 1915 में वापस आ गए। और फिर सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर भारत के लोगों में एकता की गाठ बांध दी।और सभी धर्मो के लोगों एक साथ लाने का काम किया।

Mahatma Gandhi Ji journey in Hindi || महात्मा गांधी जी यात्रा हिंदी

1992 में गांधी जी ने असहयोग आंदोलन चलाया । इस आन्दोलन मअंग्रेज़ी चीजों का बहिष्कार किया और लगभग अंग्रजी चीजों का इस्तेमाल बंद कर दिया था।

और यह आंदोलन सफल होने लगा तो माहत्मा गांधी जी को 1922 जल में डाल दिया जिसमें उन्हें 2 साल की जल हुई थी । फिर मार्च 1930 में दांडी यात्रा की और इस यात्रा में 60 हजार लोगो को जेल हो गई । गांधी जी ने और भी आन्दोलन करे जिसमें उन्हें कई बार जेल जाना पड़ा।

  • अंदोलन की चिंगारी ने भारत में अहम रोल अदा किया जिसमें 1947 में भारत को आजादी मिली।

15 अगस्त 1947 को हमें आजादी मिली । फिर आजादी का मोहोल चल रहा था कि । गांधी जी की नाथूराम गोडसे ने गोली मार कर हत्या कर दी । जिससे नाथूराम गोडसे को फसी की सजा हुई । नाथूराम गोडसे को 15 नवंबर 1947 को फसी दे दी गई।

 2 October Gandhi Jayanti Hindi Speech|| 2 अक्टूबर गांधी जयंती हिंदी भाषण:-

Good Morning Principal Sir:- और मेरे पीयारे गुरु जानो और यह पर आए सभी बड़ों और बच्चो को.। मेरा हाथ जोड़कर नमस्ते आज 2 October Gandhi Jayanti के पवन अवसर पर।में कुछ भाषण (Speech) देने जा रहा ही।

  • अगर कोई गलती हो जाए तो माफ़ कर देना । जैसे कि अपा सब को पता है । आज 2 October है आज के दिन हम महात्म गांधी जी का जन्म दिन मनाते है ।
  • गांधी जी एक सत्य के मार्ग पर चलने वाले मनुष्य थे।यह सदा सत्य के मार्ग पर चलते थे। और सत्य के मार्ग पर चलने की सलाह देते थे। और  गांधी जी सदा सत्य बोलते थे।

और इनके बाते सदा सत्य के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करती है। गांधी जी ने हमरे देश को आजादी दिलाने के लिए। बहुत सी लड़ाइयां भी करी और बहुत से अंदोल भी किए ।

अहिंसा की नीति के जरिए विश्व भर में शांति के संदेश को बढ़ावा दिया। महात्मा गांधी जी को हम बापू जी के नाम से भी जाना जाता है।

mahatma gandhi jayanti shayari in hindi:-

सत्य अहिसा का वो पुजारी । जिसने कभी ना हार मानी।

  • सोप दी हमें आजादी की जन जन । बलिहारी।

1. देश के ये लिए जिसने बिलासा को ठुकराया था। त्याग विदेशी धागे उसने खुद ही खादी बनाया था । पहन के कांठ के चप्पल । जिसने सत्यग्रह का राग सुनाया था ।  देश का अनमोल दीपक को महात्मा गांधी कहलाया था।

  • दे दी हमें (azadi) आजादी बिना खडग बिना ढाल । साबरमती (Sabarmati)  के संत (sant) तूने कर दिया कमाल।

महात्मा गांधी जयंती कविता ।। Mahatma Gandhi Jayanti poem:-

  1. सत्य अहिंसा का रखवाला ।। देश प्रेम की आंधी था ।। तन लगोटी हाथ में लाठी ।। संत महान पुरूष वो गांधी था।।

महानायक वो आजादी का ।। अटल अहिंसावाद था ।। गेरो से छुड़वाया भारत ।।तन पे जिसने खादी था।। भेद भाव से परे बापू सबको एक ही जाना था ।। उंच नीच में क्या रखा है ।। सबको ये सामझता था ।।

Leave a Comment

Your email address will not be published.